#357 The Quran 29:45 (Surah al-Ankabut)

क़ुरान 29:45

Quranic Quotes in Hindi 357

हिंदी

(ऐ रसूल) जो किताब तुम्हारे पास नाजि़ल की गयी है उसकी तिलावत करो और पाबन्दी से नमाज़ पढ़ो बेशक नमाज़ बेहयाई और बुरे कामों से बाज़ रखती है और ख़ुदा की याद यक़ीनी बड़ा मरतबा रखती है और तुम लोग जो कुछ करते हो ख़ुदा उससे वाकि़फ है

English

Recite, [O Muhammad], what has been revealed to you of the Book and establish prayer. Indeed, prayer prohibits immorality and wrongdoing, and the remembrance of Allah is greater. And Allah knows that which you do.

Leave a Comment